True Souls

True Souls

by YASH GOYAL

उसकी रूह मेरी रूह में इस तरह समा सी गई है,


जैसे ये जिस्म उसका गुलाम हो और ये रूह उसकी अमानत।

By- Aarchie Tiwari

Also Read – Chand or meri Tanhai

Leave a Comment

You may also like